मौत का सफर: पायदान पर लटक कर रहे विद्यार्थी घर से कॉलेज तक का सफर

भिवानी। भिवानी से बवानीखेड़ा क्षेत्र के ग्रामीण इलाकों में विद्यार्थियों के लिए रोडवेज बसों की कमी खल रही है। आलम यह है कि विद्यार्थी कॉलेज से घर तक मौत का सफर करने पर मजबूर हैं। भिवानी से बलियाली जाने वाली बस के पायदान पर लटककर छात्राओं के सफर की विडियो सोशल मीडिया पर भी वायरल हो गई। जिसमें कई छात्राएं तो महज एक पैर के सहारे बस के पायदान पर लटककर सफर कर रही हैं, जरा सी भी चूक पलभर में उनकी जान ले सकती है। ये नजारा एक दिन का नहीं बल्कि रोजाना ही छात्राएं अपनी जान खतरे में डालकर सफर करने पर मजबूर हैं। वहीं छात्र संगठनों ने भी रोडवेज व जिला प्रशासन को सोशल मीडिया पर वायरल हुई विडियो पर तुरंत संज्ञान लेते हुए पर्याप्त बसों की मांग की है।दरअसल भिवानी से बवानीखेड़ा क्षेत्र के वाया ग्रामीण रूटों पर चार रोडवेज बसों की जरूरत है। जिसमें खासकर भिवानी से बलियाली की सीधी बस सेवा की लंबे अर्से से मांग की जा रही है। इस क्षेत्र में चार बसों की जरूरत हैं, लेकिन महज दो बसें ही चल रही हैं। जिसकी वजह से कॉलेज से सैकड़ों विद्यार्थियों को घर पहुंचने में भी काफी परेशानी हो रही है। कॉलेज छात्र नीरज, सीमा, कमल, मीनाक्षी, दीपिका का कहना है कि उन्हें रोजाना ही घर जाने के लिए बस में खचाखच भीड़ के बीच धक्का मुक्की झेलनी पड़ती है, कई बार तो पायदान पर लटककर ही सफर करना पड़ता है। वहीं छात्रों का कहना है कि रोडवेज बस के कर्मचारी निर्धारित स्टॉप पर भी बसें नहीं रोक रहे हैं, जिसकी वजह से भागकर बस पकड़ना उनकी जान पर बड़ा जोखिम है। वहीं कई बार बसों की मांग व ठहराव को लेकर रोडवेज अधिकारियों को भी लिखित शिकायतें दी जा चुकी हैं, मगर व्यवस्था में कोई सुधार नहीं है। बवानीखेड़ा क्षेत्र में वाया ग्रामीण रूटों पर रोडवेज बसों की काफी कमी हैं, जिसके लिए रोडवेज प्रशासन को जल्द ही जरूरी कदम उठाने चाहिए। वर्जनयूनिवर्सिटी और कॉलेजों के लिए रोडवेज ने स्पेशल चार बसें लगाई हुई हैं, इसके अलावा वाया ग्रामीण रूटों पर भी रोडवेज बसें चलाई जा रही हैं। छात्राओं की सुविधा के लिए बसों की टाइमिंग में भी बदलाव किया है। ताकि कॉलेज आने-जाने में विद्यार्थियों को किसी तरह की कोई परेशानी न बने। -गुलाब सिंह दूहन, महाप्रबंधक, भिवानी डिपो, हरियाणा राज्य परिवहन विभाग।

  • Source: www.amarujala.com
  • Published: Jun 17, 2022, 00:30 IST
पूरी ख़बर पढ़ें »

Read More:
Students Bus



मौत का सफर: पायदान पर लटक कर रहे विद्यार्थी घर से कॉलेज तक का सफर #Students #Bus #SubahSamachar