गोरखपुर: स्टिंग ऑपरेशन में घूस मांगने वाला लेखपाल निलंबित, तहसीलदार सदर को मिली विभागीय जांच

गोरखपुर जिले में पैमाइश के लिए घूस मांगने के आरोपी सदर तहसील क्षेत्र के लेखपाल प्रवीण शाही को शुक्रवार को निलंबित कर दिया गया है। साथ ही पूरे मामले की जांच तहसीलदार सदर वीरेंद्र गुप्ता को दी गई है। तहसीलदार विभागीय जांच करेंगे, फिर रिपोर्ट के आधार पर आगे की कार्रवाई की जाएगी। आरोप है कि सदर तहसील के हल्का नंबर 65 में तैनात लेखपाल प्रवीण शाही ने एक आवेदक से पैमाइश के लिए रुपये मांगे थे। शिकायत मिलने के बाद डीएम विजय किरन आनंद ने ज्वाइंट मजिस्ट्रेट सदर कुलदीप मीणा की मदद से लेखपाल का स्टिंग ऑपरेशन कराया। स्टिंग ऑपरेशन से जो वीडियो बना है, उसकी मदद से दावा किया जा रहा है कि लेखपाल 16 हजार रुपये घूस लेते दिख रहा है। साथ ही बाकी के चार हजार धनराशि और प्राप्त होने पर पैमाइश करने की बात कहते सुना व देखा जा रहा है। नायब तहसीलदार सदर ने लेखपाल के खिलाफ कैंट थाने में भ्रष्टाचार एवं अन्य धाराओं में मुकदमा दर्ज कराया है। ज्वाइंट मजिस्ट्रेट सदर ने बताया कि लेखपाल के इस कृत्य को अनुशासनात्मक क्रियाकलाप के खिलाफ मानते हुए उसे तत्काल प्रभाव से निलंबित कर दिया गया है। विभागीय जांच भी कराई जा रही है।

  • Source: www.amarujala.com
  • Published: May 14, 2022, 10:43 IST
पूरी ख़बर पढ़ें »




गोरखपुर: स्टिंग ऑपरेशन में घूस मांगने वाला लेखपाल निलंबित, तहसीलदार सदर को मिली विभागीय जांच #CityStates #Gorakhpur #LekhpalSuspended #DemandingBribe #StingOperation #गोरखपुरडीएम #डीएमकाएक्शन #गोरखपुरजिलाधिकारी #विजयकिरनआनंद #SubahSamachar