हाथरस : दो और विद्यार्थियों की हुई यूक्रेन से सकुशल वतन वापसी

न्यूज डेस्क, अमर उजाला, सहपऊ/सादाबाद (हाथरस)। रूस एवं यूक्रेन के मध्य चल रहे युद्ध में फंसे भारतीय छात्र-छात्राओं को स्वदेश लाने के लिए भारत सरकार द्वारा चलाए जा रहे ऑपरेशन गंगा के तहत दो और मेडिकल विद्यार्थी स्वदेश पहुंच गए। जानलेवा परिस्थितियों से निकलकर घर पहुंचे बच्चों को देखकर परिजन भावुक हो माताओं और बहनों ने उनकी आरती उतारी। दोनों के घरों में खुशी छा गई। सौरभ कुमार मूल रूप से गांव मढ़नई और विपुल गांव अरौठा के निवासी हैं। लिहाजा दोनों के गांवों में भी खुशी की लहर दौड़ गई।सौरभ के पिता का मथुरा में मकान है, इसलिए वह शुक्रवार की सुबह सबसे पहले मथुरा अपने माता-पिता के पास पहुंचे। विपुल का परिवार आगरा में रहता है, इसलिए वह बृहस्पतिवार की शाम को आगरा में अपने माता-पिता के पास पहुंचे। दोनों छात्रों ने बताया कि रूस के हमले शुरू होते ही यूक्रेन में स्थितियां तेजी से बदलने लगीं। युद्ध के दौरान वहां का भयावह मंजर देखकर घबरा गए। यूक्रेन के हालातों की जानकारी पर उनके परिजन भी भयभीत थे। वह यूक्रेन में फंसे भारतीय छात्र-छात्राओं के घर पहुंचने के लिए सरकार से मदद की गुहार लगा रहे थे। इस बीच भारत सरकार द्वारा भारतीय छात्र-छात्राओं को स्वदेश लाने के लिए ऑपरेशन गंगा शुरू किया गया। इसके लिए चार केंद्रीय मंत्रियों को नियुक्त किया गया। वह यूरोप के अलग-अलग देशों में जाकर भारतीय बच्चों को घर लाने में जुटे हैं। ऑपरेशन गंगा के तहत केंद्रीय मंत्री किरण रिजजू और जनरल वीके सिंह की निगरानी में गांव अरौठा निवासी विपुल गौतम बृहस्पतिवार को एवं गांव अरौठा निवासी सौरभ कुमार शुक्रवार की सुबह अपने घर पहुंच गए। घर पहुंचते ही दोनों विद्यार्थी परिजनों से लिपटकर रो पड़े। इसके बाद उनके चेहरे पर सकुशल स्वदेश पहुंचने की खुशी स्पष्ट दिखाई दे रही थी। दोनों छात्रों ने उनको स्वदेश पहुंचाने में मदद करने के लिए भारत सरकार का आभार जताया।

  • Source: www.amarujala.com
  • Published: Mar 04, 2022, 22:53 IST
पूरी ख़बर पढ़ें »




हाथरस : दो और विद्यार्थियों की हुई यूक्रेन से सकुशल वतन वापसी #HathrasNews #UkrainConflict #TwoMoreStudentsReturnedHome #SubahSamachar