बेलपट्टी के दर्जनों गांवों में पेयजल संकट को लेकर मचा हाहाकार

गंगोलीहाट (पिथौरागढ़)। बेलपट्टी के दर्जनों गांवों में पेयजल संकट है। कई गांवों के लोग चार किमी दूर से पीने का पानी ढो रहे हैं। नौलों का जलस्तर भी कम होने से 10 लीटर का बर्तन भरने में एक घंटा लग रहा है। परिवार का एक आदमी पूरे दिन पानी की व्यवस्था करने में थक रहा है। बेलपट्टी के नाली, अस्कोड़ा, रौतेड़ा, चहज, निंगल्टी, बुंगली, बडेना, पाली पलियाल सहित दर्जनों गांव के लोग पानी के लिए भटक रहे हैं। कुछ गांवों में लोग घोड़ों के माध्यम से पेयजल की आपूर्ति कर रहे हैं। लगातार बढ़ रही गर्मी के कारण पारंपरिक स्रोतों में पानी कम हो गया है। आलम यह है की नौले से एक लीटर पानी भरने के लिए एक घंटा इंतजार करना पड़ रहा है। इन ग्रामीणों की तब आफत आ जाती है जब मैदानी इलाकों से मेहमान गर्मियों की छुट्टी मनाने गांव पहुंच जाते हैं। बेलपट्टी के 25 ग्राम पंचायतों के लोग वर्षों से बेलपट्टी पंपिंग योजना की राह देख रहे हैं, लेकिन पंपिंग योजना में काम शुरू नहीं हो पाया है। करीब 47 करोड़ की लागत से बनने वाली योजना से बेलपट्टी की 25000 आबादी की प्यास बुझेगी। क्षेत्रीय विधायक फकीर राम टम्टा का कहना है कि बेलपट्टी पंपिंग योजना में जल्दी काम शुरू हो जाएगा और डेढ़ साल के अंदर क्षेत्र की जनता को पानी मिलने लगेगा। जल संस्थान के जेई रूपेश आर्य ने बताया कि बेलपट्टी के सड़क से लगे विभिन्न गांवों में टैंकर से पानी की वैकल्पिक व्यवस्था की गई है। सप्ताह में तीन दिन टैंकर भेजा जा रहा है।

  • Source: www.amarujala.com
  • Published: Jun 21, 2022, 00:45 IST
पूरी ख़बर पढ़ें »




बेलपट्टी के दर्जनों गांवों में पेयजल संकट को लेकर मचा हाहाकार #Water #Uttarakhand #GangolihaatNews #Kumaun #PithauaragarhNews #SubahSamachar