आगरा: डीबीटी में 1700 विद्यार्थियों का डाटा संदिग्ध, खंड शिक्षा अधिकारियों से मांगा जवाब, 85 शिक्षकों को भी नोटिस

शैक्षणिक सत्र समापन की ओर है। आगरा जिले में अभी तक परिषदीय स्कूलों के सभी विद्यार्थियों को डायरेक्ट बेनिफिट ट्रांसफर (डीबीटी) के तहत यूनिफॉर्म, स्वेटर, जूते-मोजे और स्कूल बैग के लिए धनराशि नहीं मिल पाई है। अभिभावकों के खाते में 1100 रुपये भेजे जाने हैं। 1700 विद्यार्थियों का डाटा संदिग्ध होने से उनका प्रकरण लटका हुआ है। बीएसए की ओर से सभी खंड शिक्षा अधिकारियों (बीईओ) को कारण बताओ नोटिस जारी किया गया है। 19 फरवरी तक प्रकरणों का निस्तारण करने के निर्देश दिए हैं। दूसरी ओर विद्यार्थियों का डाटा रोकने पर 85 शिक्षकों को भी नोटिस जारी किया गया है। बीएसए सतीश कुमार ने बताया कि 1700 संदिग्ध डाटा में दो तरह के मामले हैं। पहला एक अभिभावक के पांच से छह विद्यार्थी दिख रहे हैं। खंड शिक्षा अधिकारियों को इसे शिक्षकों के माध्यम से सत्यापित करना है। यदि संख्या सही तो उसे पोर्टल पर फीड कराना है, यदि गलत है तो हटाना है।

  • Source: www.amarujala.com
  • Published: Feb 19, 2022, 14:55 IST
पूरी ख़बर पढ़ें »




आगरा: डीबीटी में 1700 विद्यार्थियों का डाटा संदिग्ध, खंड शिक्षा अधिकारियों से मांगा जवाब, 85 शिक्षकों को भी नोटिस #CityStates #Agra #UttarPradesh #BlockEducationOfficers #Teachers #Students #SubahSamachar