यूक्रेन युद्ध: बरनाला के गांव भोतना के दो छात्र फंसे, फरीदकोट के सरबजोत से परिवार का संपर्क टूटा

बरनाला जिले के गांव भोतना के मौजूदा पंच सुखदेव सिंह की 20 वर्षीय बेटी मनजिंदर कौर दिसंबर 2021 में एमबीबीएस की पढ़ाई करने यूक्रेन आई थीं। वह अब खारकीव शहर में युद्ध के बीच फंस गई हैं। वह और अन्य विद्यार्थी हॉस्टल के बंकरों में छिपे हैं। पंच सुखदेव सिंह ने बताया कि मनजिंदर कौर ने जानकारी दी है कि वहां के हालात बेहद नाजुक हैं। उनके पास खाने-पीने का राशन खत्म होने की कगार पर है। किसी भारतीय अधिकारी या प्रशासन ने अभी तक वहां से निकालने का प्रयत्न नहीं किया है। थाना टल्लेवाल के प्रमुख बलतेज सिंह ने कहा कि दोनों परिवारों की शिकायतें दर्ज कर ली गई हैं। इन परिवारों को हेल्पलाइन नंबर दिया गया है। पुलिस ने दस्तावेज सिविल प्रशासन को भेजे हैं। इसी तरह भोतना के मजदूर परिवार से संबंधित 24 वर्षीय युवक संदीप सिंह पुत्र नाजम सिंह भी 18 अक्तूबर 2021 को यूक्रेन गया था। संदीप सिंह के पिता नाजम सिंह व माता परमजीत कौर ने बताया कि उनका बेटा पढ़ाई करने पिछले वर्ष यूक्रेन गया था। गत रात को उनकी संदीप से बात हुई। वह मेट्रो से पोलैंड सीमा के नजदीक पहुंचने की कोशिश कर रहा है। नाजम सिंह व गांव भोतना के सरपंच बद्ध सिंह ने बताया कि उनकी तरफ से थाना टल्लेवाल में अपनी शिकायत दर्ज करवाई गई है। सभी छात्रों को सुरक्षित वापस लाने की मांग केंद्र सरकार से की है।

  • Source: www.amarujala.com
  • Published: Mar 01, 2022, 16:48 IST
पूरी ख़बर पढ़ें »




यूक्रेन युद्ध: बरनाला के गांव भोतना के दो छात्र फंसे, फरीदकोट के सरबजोत से परिवार का संपर्क टूटा #CityStates #Chandigarh #IndianStudents #BhotnaVillage #BarnalaNews #UkraineWar #Russia-ukraineWar #SubahSamachar