Tamil Nadu Helicopter Crash: उत्तराखंड के हैं देश के पहले सीडीएस बिपिन रावत, उनका हाल जानने के लिए स्थानीय लोग बेचैन

तमिलनाडु के नीलगिरी में सेना का हेलीकॉप्टर क्रैश हो गया है। इस हेलीकॉप्टर में सीडीएस बिपिन रावत के साथ उनकी पत्नी व अन्य अधिकारियों समेत कुल 14 लोग सवार थे। वायु सेना ने हादसे का कारण जानने के लिए जांच के आदेश दिए हैं। वहीं इस हादसे के बाद से उत्तराखंड में भी हड़कंप मच गया है। लोग देवभूमि के बेटे के बारे में जानने के लिए बेचैन हैं। उनके परिजन भी चिंतित हैं।जनरल बिपिन रावत के हेलीकाॅप्टर क्रेश होने की खबर से उत्तराखंडभाजपा में गहमागहमी और चिंता का माहौल है। घटना को लेकरलगातार अपडेट लिए जा रहे हैं। भाजपा चुनाव प्रभारीबीएल संतोष ने भी आजदोपहर बाद की बैठक छोड़ दी है। वहीं मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामीभी पार्टी कार्यालय नहीं पहुंचे। द्वारीखाल ब्लाक के सैंण गांव के मूल निवासी हैं रावत सीडीएस बिपिन रावत उत्तराखंड से ताल्लुक रखते हैं।रावत पौड़ी जिले के द्वारीखाल ब्लाक के सैंण गांव के मूल निवासी हैं। उनकी पत्नी उत्तरकाशी जिले से हैं। जानकारी के मुताबिकदेहरादून में जनरल बिपिन रावत का घर भी बन रहा है।जनरल बिपिन रावत थलसेना के प्रमुख रहे हैं।रिटायरमेंट से एक दिन पहले बिपिन रावत को देश का पहला चीफ ऑफ डिफेंस स्टाफ (सीडीएस) बनाया गया। इनके पिता लेफ्टिनेंट जनरल लक्ष्मण सिंह रावत सेना से लेफ्टिनेंट जनरल के पद से सेवानिवृत्त हुए। रावत ने 11वीं गोरखा राइफल की पांचवीं बटालियन से 1978 में अपने करियर की शुरुआत की थी। उन्होंने देहरादून में कैंब्रियन हॉल स्कूल, शिमला में सेंट एडवर्ड स्कूल और भारतीय सैन्य अकादमी देहरादून से शिक्षा ली है। आईएमए में उन्हें सर्वश्रेष्ठ सोर्ड ऑफ ऑनर सम्मान से भी नवाजा गया था।परिवार वालों का कहना है कि उनके परिवार में सभी बच्चों के सामने जनरल बिपिन और उनके पिता का उदाहरण पेश किया जाता है।

  • Source: www.amarujala.com
  • Published: Dec 08, 2021, 14:32 IST
पूरी ख़बर पढ़ें »




Tamil Nadu Helicopter Crash: उत्तराखंड के हैं देश के पहले सीडीएस बिपिन रावत, उनका हाल जानने के लिए स्थानीय लोग बेचैन #CityStates #Dehradun #Pauri #Uttarakhand #CdsBipinRawat #BipinRawat #TamilNaduHelicopterCrash #SubahSamachar