चिंता: निजी लैब कोरोना जांच कर रहे, पॉजिटिव आने पर नहीं देते स्वास्थ्य विभाग को जानकारी

कोरोना के बढ़ते संक्रमण ने अब सबकी चिंता बढ़ा दी है। हालत यह है कि सरकारी अस्पतालों के साथ ही बड़ी संख्या में लोग सर्दी, खांसी, जुकाम आने के बाद डॉक्टर की सलाह पर निजी लैब में जांच कराने पहुंच रहे हैं। शहर में कई लैब ऐसी हैं, जो कोरोना की जांच तो कर ही रही हैं और जब कोई मरीज पॉजिटिव आ रहा है तो स्वास्थ्य विभाग को इसकी जानकारी नहीं दी जा रही है। इसमें सबसे अधिक परेशानी तब हो रही है, जब तबीयत बिगड़ने पर किसी को अस्पताल में भर्ती कराना पड़ा रहा है। कोविड प्रोटोकॉल के अनुसार, जांच कराने वाले संबंधित व्यक्ति की सैंपल आईडी न होने की वजह से उन्हें कोविड अस्पताल में भर्ती नहीं कराया जा सकता है। इसमें मरीजों को परेशानी हो रही है। जिले में संक्रमण के जैसे जैसे मामले बढ़ते जा रहे हैं, उतनी ही स्वास्थ्य विभाग की चुनौतियां भी बढ़ जा रही हैं। हर दिन जांच की संख्या भी बढ़ गई है। पहले रोजाना चार से साढ़े चार हजार सैंपलों की जांच हो रही थीं। वहीं अब 5000 से 6000 जांच हो रही है।

  • Source: www.amarujala.com
  • Published: Apr 08, 2021, 10:07 IST
पूरी ख़बर पढ़ें »




चिंता: निजी लैब कोरोना जांच कर रहे, पॉजिटिव आने पर नहीं देते स्वास्थ्य विभाग को जानकारी #CityStates #Varanasi #VaranasiCoronaTestCentre #VaranasiCovidTesting #VaranasiCoronaTesting #SubahSamachar