एच-1बी वीजा: वेतन स्तर तय करने के मामले में अमेरिकी श्रम विभाग ने लोगों से मांगे सुझाव

अमेरिका के श्रम विभाग ने विभिन्न आव्रजन और गैर-आव्रजकों के रोजगार का वेतन का स्तर तय करने को 60 दिन के अंदर जनता से सुझाव देने को कहा है। इनमें एच-1बी वीजा के तहत देश में काम करने वाले पेशेवर भी शामिल हैं। भारतीय पेशेवरों में यह वीजा काफी लोकप्रिय है। इससे पहले विभाग ने आव्रजक और गैर-आव्रजक कर्मचारियों के वेतन की गणना के अंतिम नियम में बदलाव की तिथि को 18 महीने आगे बढ़ाने का प्रस्ताव किया था। इसके बाद विभाग के रोजगार एवं प्रशिक्षण प्रशासन ने यह आग्रह जारी किया है। जनवरी, 2021 में प्रकाशित अंतिम नियम उन नियोक्ताओं को प्रभावित करेंगे जो आव्रजक वीजा या एच-1बी, एच-1बी1 या ई-3 गैर-आव्रजक वीजा के जरिये विदेशी पेशेवरों को अस्थायी या स्थायी रूप से नियुक्ति देना चाहते हैं। जहां ई-3 वीजा के लिए सिर्फ ऑस्ट्रेलिया के नागरिक ही पात्र हैं, वहीं एच-1बी1 वीजा सिंगापुर और चीन के लोगों के लिये जारी किया जाता है। ट्रंप के समय के प्रतिबंध हुए समाप्त मालूम हो कि अमेरिका के राष्ट्रपति जो बाइडन ने गुरुवार को विदेशी श्रमिकों के वीजा, खासतौर से एच-1बी वीजा, पर प्रतिबंधों की अवधि को समाप्त होने दिया। इसके साथ ही उनके पूर्ववर्ती राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप कीओर से इस संबंध में जारी अधिसूचना खत्म हो गई। इससे हजारों भारतीय आईटी पेशेवरों को फायदा मिलने की उम्मीद है।ट्रंप ने पिछले साल कोविड-19 संकट और देशव्यापी लॉकडाउन के बीच एच-1बी सहित कई अस्थाई या गैर- प्रवासी वीजा श्रेणियों के आवेदकों के अमेरिका में प्रवेश को रोक दिया था। ट्रंप ने दलील दी थी कि आर्थिक गतिविधियों में सुधार के दौरान ये वीजा अमेरिकी श्रम बाजार के लिए एक जोखिम हैं। क्या है एच-1बी वीजा एच-1बी गैर-आव्रजक वीजा होता है, जिसके तहत अमेरिकी कंपनियों को विशेष तकनीकी दक्षता वाले पदों पर विदेशी पेशेवरों को नियुक्त करने की अनुमति होती है। इस वीजा के जरिए प्रौद्योगिकी क्षेत्र की कंपनियां हर साल भारत और चीन जैसे देशों से हजारों कर्मचारियों की नियुक्ति करती हैं।

  • Source: www.amarujala.com
  • Published: Apr 03, 2021, 14:12 IST
पूरी ख़बर पढ़ें »




एच-1बी वीजा: वेतन स्तर तय करने के मामले में अमेरिकी श्रम विभाग ने लोगों से मांगे सुझाव #BusinessDiary #National #Visa #America #H1bVisa #SubahSamachar