फसल डूबने पर किसानों ने किया विरोध प्रदर्शन

कोपागंज (मऊ)। ब्लॉक क्षेत्र के कोपागंज सहरोज मार्ग पर फोरलेन कर्मियों द्वारा मिट्टी डालकर छोटी सरयू का पानी बंद करने से सैकड़ों किसानों का खेत जलमग्न हो गया। इसकी जानकारी होने पर शनिवार को दस से ज्यादा गांव के सैकड़ों किसानों ने धरना प्रदर्शन किया। किसानों के विरोध प्रदर्शन की सूचना मिलने पर फोरलेन के अधिकारियों ने पोकलेन मशीन से सरजू नदी से मिट्टी निकालकर पानी के बहाव को सुचारु रूप से चालू कराया।कोपागंज से सहरोज जाने वाले मार्ग पर स्थित छोटी सरयू नदी पर पुलिया के निर्माण फोरलेन विभाग द्वारा किया जा रहा जिसके चलते छोटी सरयू का पानी बंद हो गया। छोटी सरयू का पानी अवरुद्ध होने के चलते क्षेत्र के ग्राम सभा कच्छिकला, सोंडसर, भांवरकोल, चिस्तीपुर धवारियासाथ, फैजुल्लाहपुर, हिलसा, कोडरा आदि के किसानों का हजारों एकड़ फसल जलमग्न हो गया।शनिवार की दोपहर संस्कार भारती के प्रांतीय मंत्री प्रमोद राय प्रेमी के नेतृत्व में सैकड़ो किसानों ने सहरोज कोपागंज मार्ग को बंद करते हुए एनएचआई के खिलाफ नारेबाजी करते हुए प्रदर्शन करने लगे। किसानों के प्रदर्शन की खबर जैसे ही एनएचआई के प्रोजेक्ट मैनेजर भरत प्रसाद को हुई, वो मौके पर पहुंचे और उन्होंने किसानों की समस्या को देखते हुए तत्काल पोकलेन मशीन से सरयू नदी के अवरोध को हटवाते हुए छोटी सरयू में पानी के बहाव को शुरू करवाया।इस दौरान किसानों का कहना था कि छोटी सरयू का पानी एन एच आई द्वारा रोका गया था जो अब चालू हो गया है। जिससे किसानों को राहत मिलेगी। इसके अलावा उन्होंने सरकार से मांग किया है की छोटी सरयू में जगह जगह कुछ लोगो द्वारा अवरोध करके पानी के बहाव को रोक दिया जाता है। पानी का बहाव रुकने से सैकड़ों किसानों की फसल डूब जाती है। उन्होंने मांग किया है कि मछली मारनेवालों को रोक लगाई जाय जिससे किसानों का फसल नुकसान न हो। इस दौरान आनंद राय, विवेकानंद राय, सुधीर राय, बृजेश यादव, ज्ञान यादव, रविन्द्र यादव, शाम यादव, रामकुंवर यादव, राम अवध साहनी, रामकेवल साहनी आदि मौजूद रहे।

  • Source: www.amarujala.com
  • Published: Aug 01, 2020, 21:51 IST
पूरी ख़बर पढ़ें »

Read More:
Protest



फसल डूबने पर किसानों ने किया विरोध प्रदर्शन #Protest #SubahSamachar