Cyber Security : पेगासस के बाद हर्मिट के निशाने पर नेता, पत्रकार और कारोबारी, साइबर सुरक्षा कंपनी की रिपोर्ट में खुलासा

इस्राइली जासूसी सॉफ्टवेयर पेगासस पर उठे बवाल के बाद सरकारों ने प्रभावशाली लोगों की टोह लेना तो नहीं छोड़ा है लेकिन इस काम के लिए सॉफ्टवेयर नया ढूंढ लिया है। लोगों की जासूसी के लिए एक और सॉफ्टवेयर इस्तेमाल किए जाने का खुलासा हुआ है। एक साइबर सुरक्षा कंपनी ने खुलासा किया है कि कई देशों की सरकारें हर्मिट नामक इस स्पाइवेयर का जासूसी में इस्तेमाल कर रहीं हैं। राजनेता, वरिष्ठ सरकारी अधिकारी, पत्रकार, मानवाधिकार कार्यकर्ता, शैक्षणिक संस्थानों से जुड़े लोग और कारोबारी इस स्पाइवेयर के निशाने पर हैं। लुकआउट थ्रेट लैब नामक इस कंपनी की एक रिपोर्ट के मुताबिक, अध्ययनकर्ताओं ने पहली बार कजाखस्तान में इसका इस्तेमाल होता पाया। कजाखस्तान में सरकारी नीतियों के खिलाफ लोग सड़कों पर उतरे हुए थे। इस आंदोलन को कजाख सरकार ने बलपूर्वक दबा दिया था। तभी से कजाख सरकार लोगों की जासूसी के लिए हर्मिट स्पाइवेयर का इस्तेमाल कर रही है। इसके अलावा सीरिया और इटली में भी यूजर्स के फोन में यह एंड्रॉयड आधारित सॉफ्टवेयर देखा गया।

  • Source: www.amarujala.com
  • Published: Jun 20, 2022, 04:40 IST
पूरी ख़बर पढ़ें »

Read More:
World International



Cyber Security : पेगासस के बाद हर्मिट के निशाने पर नेता, पत्रकार और कारोबारी, साइबर सुरक्षा कंपनी की रिपोर्ट में खुलासा #World #International #SubahSamachar