एनएसए की बैठक में बनी थी चीन को चित करने की रणनीति

राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजित डोभाल के नेतृत्व में हुई सीडीएस जनरल बिपिन रावत और सेना प्रमुख जनरल मनोज मुकुंद नरवणे की बैठक में चीन को चारों खाने चित करने की रणनीति बनी थी। सूत्रों के मुताबिक इस बैठक में पैंगोंग के दक्षिणी इलाके में ऊंचाई वाली चोटियों पर कब्जा करने की रणनीति बनी थी, जिसके बाद चीन को अग्रिम चौकी से अपनी सेना पीछे हटाने के लिए मजबूर होना पड़ा। सूत्रों के मुताबिक एनएसए की बैठक में ऊंचाई पर सैनिक तैनात कर चीन के खिलाफ बढ़त बनाने की योजना बनी थी। बैठक के दौरान चीनी कब्जे को नरजअंदाज करते हुए रेजांग ला, रेचन ला, हेल्मेट टॉॅप और मोखपारी समेत पेंगोंग के दक्षिणी हिस्से पर कब्जा करने की योजना बनी ताकि चीन को बातचीत की मेज पर लाया जा सके। इसके बाद 29 व 30 अगस्त को भारत की स्पेशल फ्रंटियर फोर्स के जवानों ने इन चौकियों पर कब्जा जमा लिया। यह चाल चीन से जारी गतिरोध में खेल पलटने वाली साबित हुई।

  • Source: www.amarujala.com
  • Published: Feb 26, 2021, 04:26 IST
पूरी ख़बर पढ़ें »




एनएसए की बैठक में बनी थी चीन को चित करने की रणनीति #IndiaNews #National #PangongLakeLadakh #Nsa #AjitDoval #CdsBipinRawat #IndiaChinaStandoff #SubahSamachar